शुक्रवार, 18 मई 2012

मेंहदी हसन को इलाज के लिए भारत लाने की तैयारी


मेंहदी हसन की तबियत बहुत नासाज है
नारायण बारेठ
शहंशाह-ए-गजल मेंहदी हसन की तबियत बहुत नासाज है. उनके परिवार ने मेहदी हसन को उपचार के लिए भारत लाने की इच्छा जाहिर की है.
राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने विदेश मंत्री एसएम कृष्णा से हसन के परिजनों को और वीजा स्वीकृत करने का आग्रह किया है.
इससे पहले भारत ने हसन सहित चार लोगों के लिए तुरंत मेडिकल वीजा देना स्वीकार कर लिया. गहलोत ने दोबारा भारत में मेंहदी हसन के इलाज का पूरा खर्च उठाने की पेशकश की है.
इसकी वजह ये है कि मेंहदी हसन मूलत: राजस्थान के सपूत हैं. उनके पुश्तैनी गाँव झुंझुनू जिले के लुना में लोग इस गजल सम्राट की सेहत के लिए दुआ कर रहे हैं.
पुत्र ने गहलोत से गुहार लगाई
मेंहदी हसन अभी पाकिस्तान मे जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं. उनके बेटे मोहम्मद आरिफ ने मुख्य मंत्री गहलोत से संपर्क किया और उन्हें अपने वालिद की गिरती सेहत के बारे में जानकारी दी.
आरिफ ने मुख्य मंत्री को बताया, "उनकी हालत बहुत नाजुक है, उन्हें खून की उल्टियाँ हुईं हैं. हम अपने वालिद को तुरंत पाकिस्तान से भारत लाना चाहते हैं."
उन्होंने अपने परिवार के कुछ और लोगों के लिए वीजा दिलाने में मुख्य मंत्री की मदद माँगी.
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बारे में भारत के विदेश मंत्री को पत्र लिखा है. मुख्यमंत्री ने विदेश मंत्री कृष्णा से दो और लोगों के लिए वीजा स्वीकृत करने का अनुरोध किया है.
कोई चार माह पहले भी गजल गायक हसन गंभीर रूप से बीमार हो गए थे.
उन्हें पाकिस्तान के एक अस्पताल में जीवन रक्षक उपकरणों पर रखा गया था. तब भी गहलोत ने उनके परिवार से संपर्क किया और कहा कि राजस्थान सरकार उनके इलाज के लिए हर मुमकिन मदद को तैयार है.
पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के अधिकारी मेंहदी हसन के परिजनों के सम्पर्क में हैं. भारत ने अभी मेंहदी हसन, उनके एक बेटे, पुत्र वधु और एक चिकित्सा सहायक के लिए वीजा स्वीकृत किया है.
पुश्तैनी गाँव में दुआ
इस दौरान हसन के पुश्तैनी गाँव लुना में लोग गजल गायक के स्वास्थ्य के लिए दुआ कर रहे हैं.
लुना के नारायण सिंह नब्बे साल के हो गए हैं. वे हसना के बाल सखा है. फोन पर बात हुई तो हसन को याद कर भावुक हो गए. कहने लगे हम तो उसकी आवाज के कायल है. "मुझे दिखता सुनता कम है. मैं अपने दोस्त को बहुत दिल से याद करता हूँ. भगवान से प्रार्थना है कि उसे स्वस्थ रखे."
लुना के पूर्व सरपंच कुरडाराम एक बार मेंहदी हसन से मिले हैं और दो बार उनसे फोन पर बात हुई है. कहते हैं, "जब भी उनसे बात हुई, वे अपने बचपन के दोस्तों का नाम ले-ले कर पूछने लगे. कहा, अरे वो नारायण सिह कैसे है. वो अर्जुन क्या कर रहा है."
कुरडाराम कहते हैं कि जबसे उनकी बीमारी और गंभीर हालत के बारे में सुना है, पूरा गाँव उनके लिए दुआ कर रहा है. गाँव में उनके पुरखों की याद में कब्रिस्तान में बना एक स्मारक है, जहाँ कभी हसन ने दुआ की थी. वे राजस्थान के शेखावाटी अंचल के लुना में पैदा हुए और फिर बँटवारे के दौरान पाकिस्तान चले गए.
एक और गायिका रेशमा भी इसी इलाके से हैं. धरती जब सरहदों में बँटी तो इंसानों की आवाजाही पर पहरे लगे. मगर फनकारों की आवाज किसी वीजा पाबंदियों से नहीं रूकती. उसे संगीनों के पहरे भी नहीं रोक सकते.
इसीलिए मेंहदी हसन की मखमली आवाज सरहद के दोनों ओर बहुत मनमानी से मुसाफिरी करती रही. मगर अब उस आवाज में बीमारी की दरारें पड़ गई हैं. लिहाजा डॉक्टर दवा तजवीज कर रहे हैं, तो उनके चाहने वाले हाथ उठा कर दुआ कर रहे है. इस पार भी, उस पार भी.
लेखक श्री नारायण बारेठ राजस्थान के जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार हैं और लंबे समय से बीबीसी से जुड़े हैं

1 टिप्पणी:

  1. जोधपुर बनी क्रिकेट चैंपियन विजेता बरोडिया उपविजेता ।संजय मेघवाल मेनार। मेघवाल समाज का 21 ऑक्टूबर से आयोजित पंच दिवसीय राज्य स्तरीय क्रिकेट प्रतियोगिता का समापन 25 ऑक्टूबर मंगलवार को मंगलवाड में हुआ जहां समापन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व विधायक प्रकाश चौधरी, कार्यक्रम की अध्यक्षता लक्ष्मी लाल मेघवाल कांग्रेस कमेटी जिला उपाध्यक्ष एवं विशिष्ट अतिथि चेतना मेघवाल बड़ी सादड़ी प्रधान ,भिंडर प्रधान प्रतिनिधि यशोधरा सिंह चावड़ा, पिंटू बड़वाई ,nsui प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक मेवाड़ा ,भावना मेघवाल nsui प्रदेश सचिव, उदयपुर sc ब्लाक सचिव सुमित मेघवाल, पीथलपूरा सरपंच सुनीलस्नेहलता मेघवाल समाजसेवी शंकरलाल ,लॉगरलाल, मेघसेना वल्लभनगर प्रभारी संजय मेघवाल मेनार सहित कई गणमान्य ने भाग लिया। रॉयल ग्रुप मेवाड़ के प्रभुलाल ,लोकेश ,शंकर खड़ौदा, ने बताया इस पंच दिवसीय राज्य स्तरीय मेघवाल समाज क्रिकेट प्रतियोगिता का फाइनल मैच जोधपुर एवं बरोडिया के बीच हुआ ।मैच में जोधपुर की टीम ने बरोडिया को कड़ी टक्कर देते हुए मैच की फाइनल विजेता बनी एवं चैंपियनशिप अपने नाम किया। समापन क्रिकेट प्रतिभा सम्मान समारोह में प्रमुख वक्ताओं ने अपने उद्बोधन में सामाजिक कुरीतियों को घटाने, बाबासाहेब अंबेडकर के सपनो को साकार करने एव सामूहिक विवाह पर जोर दिया । साथ ही बड़ी सादडी प्रधान चेतना मेघवाल ने बालिका शिक्षा एवम् समाज को नशा मुक्त बनाने के लिए युवाओ को संकल्प दिलवाया। कार्यक्रम में नारी शक्ति का जोश भी देखने को मिला। महा सभा के संभाग प्रभारी खेमराज मेघवाल ने बताया की चैंपियन विजेता एवम् उप विजेता टीम को नकद परितोषित सहित मोमेंटो एवम् प्रमाण पत्रो से नवाजा गया। समापन समारोह के अथितियों ने नकद परितोषित कर विजेता टीम एवम् संगठन के युवा को प्रोत्साहन किया। क्लब सयोजक एवम् महासभा संभागीय अध्यक्ष डॉ तारा चंद मेघवाल ,संयोजक जीतेन्द्र मेघवाल,किशन खेमपुरा ,शेखर जोधाना ने आयोजको एवम् अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में सुजल करजली, कर्मचारी विंग प्रभारी वल्लभनगर ओंकार लाल मेघवाल मेनार ,शंकर लाल मेघवाल ,सहित सैकड़ो समाजजन उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन बालुराम मेघवाल एवम सुनील मेघवाल ने किया।कैप्शन मेनार। समापन समारोह में मंचासीन अतिथि एवम् उमड़ा जन सैलाब

    उत्तर देंहटाएं